AAPKI JIMMEDARI

AAPKI JIMMEDARI

Sunday, 7 January 2018

मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सेवा षिविर का शुभारंभ किया सांसद श्री चौहान ने

मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सेवा  षिविर का शुभारंभ किया सांसद श्री चौहान ने
बीमारी सहायता निधि के तहत 243 मरिजों का हुआ पंजीयन

खण्डवा 7 जनवरी, 2018 - जिला स्तरीय निःषुल्क मुख्यमंत्री स्वास्थ्यसेवा षिविर का आयोजन रविवार को जिला अस्पताल खंडवा में किया गया। षिविर का शुभांरभ क्षेत्रीय सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया। सांसद श्री चौहान ने अपने उद्बोधन में कहा कि प्रदेष सरकार पंडित दीनदयाल उपाध्याय के आदर्षो पर चल रही है तथा गरीबों के उपचार के लिए सरकार ने निःषुल्क बीमारी सहायता योजना प्रारंभ की है। इस योजना में गंभीर बीमारियों से पीडि़त गरीब परिवारों के मरीजों के प्रदेष के जाने माने अस्पतालों में सरकारी खर्चे पर उपचार कराने की व्यवस्था की गई है। सरकार ने निःषुल्क उपचार के साथ साथ निःषुल्क पैथोलॉजी तथा निःषुल्क औषधी वितरण योजनाएं संचालित कर की है, जिनसे गरीबों के उपचार सरकारी अस्पतालों में पूर्णतः निःषुल्क होते है।  
सांसद श्री चौहान ने कहा कि राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत ए.पी.एल. व बी.पी.एल. परिवारों के और राज्य बीमारी सहायता निधि के बी.पी.एल. परिवार के सदस्यों को लाभ दिया जा रहा है। श्री चौहान ने अपने संबोधन में यह भी कहा कि भगवान के बाद चिकित्सक ही दूसरा रूप है जो लंबी आयु जीने के लिये निःस्वार्थ भाव से मरीज को बचाता है।  इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष्य श्रीमती हसीना बाई भाटे, खंडवा विधायक श्री देवेंद्र वर्मा, पंधाना विधायक श्रीमती योगिता बोरकर, नगर निगम महापौर श्री सुभाष कोठारी, क्षेत्रीय संचालक इंदौर डॉ.लक्ष्मी बघेल, सिविल सर्जन डॉ.ओ.पी.जुगतावत उपस्थित थे।  
इस षिविर की रूपरेखा एवं उद्देष्य को बताते हुये मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.रतन खंडलेवाल ने बताया कि जिले के राज्य बीमारी सहायता निधि के तहत 200 मरीज और राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत 700 के लगभग मरीजों को विकासखंड स्तर पर आयोजित स्वास्थ्य षिविरों में चिन्हित किये गये थे जिसमें आर.बी.एस.के. की समस्त टीम,स्वास्थ्य कार्यकर्ता,  आषा ,आषा सहयोगी के सहयोग से चिन्हांिकंत किये गये थे। शिविर में 839 मरीजों का पंजीयन किया गया था जिसमें राज्य बीमारी सहायता निधि के तहत गंभीर बीमारी के मरिजों के 243 और आर.बी.एस.के. 596 मरिजों का पंजीयन किया गया, जिसमें विभिन्न बीमारियों के मरीज सम्मिलित थे।  
स्वास्थ्य षिविर में ग्रेटर कैलाष अस्पताल, इंदौर से डॉ.विनित पांडे, डॉ.कृष्ण, डॉ.हीना अग्रवाल, भंडारी अस्पताल से डॉ.मोनिका राजधान, डॉ.अषर लोधी, डॉ.मन्धार, डॉ.विषाल सिंह, डॉ.आषीष पटेल, डॉ.उरवी गुप्ता, मेंधाता अस्पताल इंदौर से डॉ.संदीप श्रीवास्त, डॉ.सी.एस.अग्रवाल, टी चोईथराम अस्पताल इंदौर से डॉ.समीर न्यूवषाकर, डॉ.अजीत रंजन, अरबिंदो अस्पताल इंदौर से डॉ.सूची, डॉ.मुरली पाटीदार  और जिले के चिकित्सक आर.एम.ओ. डॉ.शक्ति सिंह राठौर, डॉ.संतोष श्रीवास्तव, डॉ.लक्ष्मी डोडवे, डॉ.अनिरूद्ध कौषल, डॉ.विजय मोहरे, डॉ.भूषण पांडे द्वारा चिकित्सा सेवायें दी गयी। षिविर के नोडल अधिकारी डॉ.एन.के.सेठिया, व समस्त खंड चिकित्सा अधिकारी, सुपरवाईजर, स्वास्थ्य कार्यकर्ता और पैरामेडिकल कार्यकर्ताओं ने बड़ी तत्परता से षिविर में व्यवस्था में सेवायें दी।  

No comments:

Post a Comment