AAPKI JIMMEDARI

AAPKI JIMMEDARI

Sunday, 7 January 2018

मंत्री श्री आर्य ने आदिम जाति कल्याण व नर्मदा घाटी विकास विभाग की समीक्षा की

मंत्री श्री आर्य ने आदिम जाति कल्याण व नर्मदा घाटी विकास विभाग की समीक्षा की
सहायक आयुक्त श्री जैन को निलंबित करने के दिए निर्देष 



खण्डवा 7 जनवरी, 2018 - अनुसूचित जाति कल्याण विभाग एवं नर्मदा घाटी विकास विभाग के राज्यमंत्री श्री लाल सिंह आर्य ने रविवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में अनुसूचित जाति व जनजाति कल्याण विभाग की योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने विभागीय योजनाओं में प्रगति संतोषजनक न पाये जाने के कारण सहायक आयुक्त श्री एस.के. जैन को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के लिए विभाग के आयुक्त श्री एस.एन. मिश्र को मोबाईल फोन पर बात कर निर्देष दिए। उन्होंने कलेक्टर श्री अभिषेक सिंह से कहा कि वे भी हर माह नियमित रूप से विभाग की योजनाओं की समीक्षा करें तथा लापरवाही बरतने वाले अधिकारी कर्मचारियों के विरूद्ध कार्यवाही करें। मंत्री श्री आर्य ने उपस्थित विधायक श्री देवेन्द्र वर्मा एवं श्री लोकेन्द्र सिंह तोमर से भी कहा कि वे भी समय समय पर विभाग के छात्रावासों में जाकर विद्यार्थियों से चर्चा करें तथा उन्हें उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी लेते रहे ताकि बच्चों को यदि कोई परेषानी हो तो उसका निराकरण किया जा सके। 
मंत्री श्री आर्य ने बैठक में छात्रवृत्ति वितरण, गणवेष वितरण, साईकिल वितरण, अनुसूचित जाति बस्ती विकास योजना सहित विभिन्न योजनाओं की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सभी छात्रावासों की पुताई नये सिरे से कराई जाये तथा उपलब्ध राषि से छात्रावास भवनों कीे मरम्मत कराई जाये। श्री आर्य ने सभी छात्रावासों में सीसीटीवी केमरे लगवाने के निर्देष दिए। उन्होंने कहा कि किराये के छात्रावास भवनों को धीरे धीरे बंद कर शासकीय भवनों में ही छात्रावास संचालित किए जायेंगे। श्री आर्य ने कलेक्टर श्री सिंह को 3 वर्ष से अधिक समय से एक ही स्थान पर पदस्थ अधीक्षकों के स्थानांतरण आगामी एक सप्ताह में किए जाये। उन्होंने कहा कि मुख्यालय पर रहने वाले षिक्षकों  को ही अधीक्षक का प्रभार दिया जाये तथा अपडाउन करने वाले अधीक्षको को हटाया जाये। 
राज्यमंत्री श्री लाल सिंह आर्य ने बैठक में बताया कि जिन क्षेत्रों मंे साक्षरता का प्रतिषत कम है वहीं नए छात्रावास स्वीकृत किए जायेंगे। उन्होंने कहा कि सभी छात्रावास भवनों के आसपास बाउन्ड्रीवाल स्वीकृत की जायेगी। उन्होंने कलेक्टर श्री सिंह से अनुसूचित जाति बस्ती विकास व पम्प उर्जीकरण योजना के तहत अनुसूचित जाति जनजाति वर्ग के हितग्राहियों को लाभान्वित करने के लिए आवष्यक स्वीकृति जिला स्तर से जारी कराई जाये। उन्होंने कहा कि सभी एसडीएम व तहसीलदारों को अपने अपने क्षेत्र के छात्रावासों का नियमित रूप से निरीक्षण करने तथा वहां रह रहे बच्चों की समस्याओं की सुनवाई कर उनका तत्काल निराकरण कराने के निर्देष भी जारी किए जायें। श्री आर्य ने कलेक्टर श्री सिंह से कहा कि अनुसूचित जाति जनजाति विभाग का बजट अन्य विभागों में भी दिया जाता है, अतः अन्य विभागों में अनुसूचित जाति जनजाति कल्याण विभाग के बजट से संचालित कार्यो की प्रगति की नियमित रूप से समीक्षा की जाये। उन्होंने कहा कि छात्रावासों में पढ़ने वाले उत्कृष्ट खिलाड़ी विद्यार्थियों को पटियाला की राष्ट्रीय खेल अकादमी में प्रषिक्षण के लिए भेजने की व्यवस्था भी सरकार कर रही है। 
राज्यमंत्री श्री आर्य ने बैठक में कहा कि छात्रावासों में रहने वाले बच्चों के लिए क्रय की गई समाग्री का भौतिक सत्यापन आवष्यक रूप से कराया जाये तथा क्षेत्र के विधायकों को भी इसकी जानकारी दी जाये। उन्होंने कहा कि छात्रावास में रहने वाले बच्चों को आसपास के शहरों के विभिन्न दर्षनीय स्थलों का भ्रमण कराया जाये, ताकि उनका सामान्य ज्ञान बढ़े। कलेक्टर श्री अभिषेक सिंह ने संयुक्त कलेक्टर श्री अनिल डामोर को अनुसूचित जाति बस्ती विकास तथा पम्प उर्जीकरण के कार्यो की जांच कर एक सप्ताह में रिपोर्ट देने के निर्देष दिए। 
नर्मदा घाटी विकास विभाग के कार्यो को समय सीमा में पूर्ण करायें
राज्यमंत्री श्री लाल सिंह आर्य ने सर्किट हाउस में नर्मदा घाटी विकास विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय कार्यो की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि विभाग के सभी निर्माण कार्य निर्धारित समय सीमा में कराये जायें। उन्होंने सख्त हिदायत दी कि जो ठेकेदार शासन से राषि लेने के बावजूद भी कार्य पूर्ण नहीं कर रहे है तथा अधूरे कार्य छोड़कर भाग जाते है उनके विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराई जाये। बैठक में उन्होंने छैगांवमाखन उद्वहन सिंचाई योजना, बिस्टान उद्वहन सिंचाई योजना, छीपानेर सिंचाई योजना, हरसूद सिंचाई योजना, अपरवेदा सिंचाई योजना सहित विभाग की विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की। बैठक में विभाग के खण्डवा, खरगोन, अलीराजपुर, बड़वानी सहित विभिन्न जिलों के अधिकारी मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment